धान की खेती कैसे करें | Dhaan ki kheti in hindi | बासमती धान की खेती कैंसे करें| Smart Business Plus


धान की खेती कैसे करें | Dhaan ki kheti in hindi | बासमती धान की खेती कैंसे करें| Smart Business Plus

नमस्कार दोस्तों, कैंसे है आप- दोस्तों आज का हमारा विषय बड़ा ही महत्वपूर्ण है| इसमें हम सीखेंगे की कैंसे धन की खेती की जाती है और कैंसे लाखों कमाए जाते है| दोस्तों बता दें की धन की खेती करना बड़ा आसान है और धन की खेती पानी वाली जगह में होती है, मतलब कहने का तात्पर्य है की| यदि आपके खेतों में पानी का जमाब होता है या पानी भरा रहता है बरसात के मौसम में, तो आपके खेत धन की खेती करने के लिए बेस्ट है| अब बस उसमे आर्दता और जलवायु देख लें और खेती करना शुरू कर दें| किसान धान की खेती बहुत ज्यादा पानी की स्थिति में करते हैं ताकि खर-पतवार पर नियंत्रण किया जा सके। कनाल नियंत्रित क्षेत्र और बोरवेल वाले क्षेत्र में धान की खेती के लिए जरूरत से ज्यादा पानी इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या होता है जब मिट्टी को पानी से भर दिया जाता है। इस वजह से जड़ को हवा नहीं मिल पाती है और वह मर जाती है।

Hybrid dhan ki kheti,Dhan ki kheti jankari,Kheti,धान की खेती,Dhan ki kheti hindi,Dhan ki kheti kaise kare,Dhan ki kheti karne ka tarika,Dhaan ki kheti in hindi, धान की उन्नत खेती,धान की खेती कैसे करें,खेती,Kheti, धान की फसल,धान की फसल की जानकारी,धान की नर्सरी,धान की खेती,धान की खेती कैसे करें,धान की उन्नत खेती,धान की रोपाई,धान की नर्सरी की देखभाल,धान,dhaan ki kheti in hindi,dhan ki kheti,dhan ki kheti hindi,dhan ki kheti karne ka tarika,dhan ki kheti kaise kare,dhan ki kheti karne ki vidhi,image,dhan farming image

वीडर का इस्तेमाल किये जाने से एक दिन पहले खेत की हल्की सिंचाई की जाती है। वीडिंग के बाद खेत से किसी भी हालत में पानी नहीं सुखाया जाना चाहिए। ऐसा करने पर खेत से सारे पोषक तत्व खत्म हो जाएंगे। पुष्प गुच्छ की शुरुआत की स्थिति से परिपक्व होने की स्थिति तक खेत में एक ईंच पानी बरकरार रखी जानी चाहिए। अनाज का 70 फीसदी हिस्सा कड़ा हो जाने के बाद पानी को खेत से निकाल लिया जाना चाहिए।
अगर खेत उबड़-खाबड़ है तो नीचे वाले क्षेत्र में पानी जमा हो जाएगा और ऊंची जगह वाले क्षेत्र सूख जाएंगे। अगर सिंचाई का अच्छी तरह से इस्तेमाल किया जाना है तो प्लॉट समतल और छोटे होने चाहिए।

अब यदि बड़ा खेत है तो आप उसमे बेड बनाकर भी उसमे क्यारियां बना सकते है जिससे आपको थोड़ी सोह्लियत हो जाएगी| और स्थानीय स्थिति को ध्यान में रखते हुए पानी को खेत में पूरी तरह भरने की जगह तीन चौथाई हिस्सा भरने के बाद रोक देना चाहिए। पानी अपने-आप पूरे खेत में फैल जाएगी। अगर पानी ज्यादा हो गया है तो उसे निकाल लेना चाहिए, या इसे खेत के अंत में छोटे से प्लॉट में सब्जी उत्पादन में इस्तेमाल किया जा सकता है | दोस्तों आज के इस विडियो में और भी एनसी ही खास बाते जन पाएंगे आप और सिख पाएंगे की कैंसे धन की खेती करें? तो चलिए शुरू करते है और विडियो को देख लेते है | 

दोस्तों विडियो अछि लगे तो इसे लाइक और शेयर करें, और मन में कोई सवाल है तो कमेंट्स करें| और भी इसी तरह की जानकारी प्राप्त करने के लिए अभी सब्सक्राइब करें “Smart Business Plusyoutube चन्न्नेल को और प्रेस करें वेल आइकॉन को- तो चलिए अब ज्यादा समय न लेते हुए देख लेते हा आगे की जानकारी


Tag- Hybrid dhan ki kheti,Dhan ki kheti jankari,Kheti,धान की खेती,Dhan ki kheti hindi,Dhan ki kheti kaise kare,Dhan ki kheti karne ka tarika,Dhaan ki kheti in hindi, धान की उन्नत खेती,धान की खेती कैसे करें,खेती,Kheti,धान की फसल,धान की फसल की जानकारी,धान की नर्सरी,धान की खेती,धान की खेती कैसे करें,Smart Business Plus,धान की उन्नत खेती,धान की रोपाई,धान की नर्सरी की देखभाल,धान,dhaan ki kheti in hindi,dhan ki kheti,dhan ki kheti hindi,dhan ki kheti karne ka tarika,dhan ki kheti kaise kare,dhan ki kheti karne ki vidhi,hybrid dhan,hybrid dhan ki kheti,dhan ki kheti jankari,dhan,dhan ki unnat kism,dhan ki nursery kaise taiyar kare,dhan ki nursery,dhan ki nayi variety

0 comments: